Computer kya hai | What is Computer.

Computer kya hai

Computer kya hai – कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है, जो डाटा को (जैसे:- कोई फाइल,विडियो,पिक्चर,फोटो ) को स्टोर, रिकवर और प्रोसेस करता है । शब्द “Computer” लैटिन भाषा के “Computer” शब्द से लिया गया है | जिसका अर्थ है “Calculation” करना |

आज के कंप्यूटर इलेक्ट्रॉनिक उपकरण हैं जो डेटा ( इनपुट ) को स्वीकार करते हैं, उस डेटा को प्रोसेस करते हैं, आउटपुट का उत्पादन करते हैं , और परिणामों को स्टोर ( स्टोरेज ) करते हैं।

यहाँ हम बात करेंगे Computer kya hai
  1. Computer के प्रकार
  2. Computer के मुख्य भाग
  3. Computer का फुल फार्म
  4. Computer कार्य कैसे करता है
  5. Computer का इतिहास
  6. Computer का भविष्य
  7. Computer के लाभ
  8. Computer के हानि

Computer के प्रकार

जब एक कंप्यूटर या “पीसी” के बारे में बात की जाती है, तो आप आमतौर पर हम लोग एक घर या कार्यालय में पाए जाने वाले डेस्कटॉप कंप्यूटर की ही बात करते है आज, हालांकि, बहोत सी ऐसी इलेक्ट्रॉनिक मशीन है जो कंप्यूटर काही एक प्रकार है |

  • डेस्कटॉप कंप्यूटर (Desktop Computer)

  • लैपटॉप (Laptop)

  • नोटबुक (Notebook)

  • हिब्रिड कंप्यूटर (HighBrid Computer)

  • टेबलेट (Tablet)

  • स्मार्ट फ़ोन(SmartPhone)

Computer के मुख्य भाग

बाहर का भाग

  1. Computer Case:
  2. Monitor:
  3. Keyboard:
  4. Mouse:

अन्दर का भाग 

  1. Motherboard:
  2.  CPU/Processor:
  3. RAM (Random Access Memory):
  4. Hard Drive:
  5. CD/DVD Drive:
  6. Power Supply Unit:

Computer का फुल फार्म | Full Form Of Computer

  • – Commonly
  • O – Operated
  • – Machine
  • P – Particularly
  • U – Used For
  • T – Technology and
  • E – Education
  • R – Research

Computer कार्य कैसे करता है

कोई भी कंप्यूटर तीन चरणों में कार्य करता है

इनपुट डाटा (Input Data)

यह कंप्यूटर का सबसे पहला स्टेप होता है इसमें हम कंप्यूटर के इनपुट डिवाइस द्वारा raw information को इनपुट करते है

प्रोसेस (process)

यह कंप्यूटर का दूसरा स्टेप होता है इसमें इनपुट किया गया information दिए गए instruction के अनुसार Processing की जाती है | यह कार्य पूरी तरह internal होता है

आउटपुट डाटा (Output Data)

जब इनपुट (Input) दिया गया डाटा प्रोसेस हप कर रिजल्ट के तोर पर हमें प्राप्त होता है वही डाटा आउटपुट डाटा (Output Data) कहलाता है | ओर इस डाटा को हम Memory में सेव भी कर सकते है फ्यूचर (Future) में इसे Use करने के लिए |

Computer का इतिहास

पहला डिजिटल कंप्यूटर और जिसे अधिकांश लोग कंप्यूटर के रूप में समझते हैं, उसे ENIAC कहा जाता था। यह द्वितीय विश्व युद्ध (1943-1946) के दौरान बनाया गया था और मानव कंप्यूटरों द्वारा की जा रही गणनाओं को स्वचालित करने में मदद करने के लिए डिज़ाइन किया गया था। कंप्यूटर पर इन गणनाओं को करने से, वे बहुत तेजी से और कम त्रुटियों के साथ परिणाम प्राप्त कर सकते हैं।

ENIAC जैसे प्रारंभिक कंप्यूटर वैक्यूम ट्यूब का उपयोग करते थे और बड़े (कभी-कभी कमरे के आकार) होते थे और केवल व्यवसायों, विश्वविद्यालयों या सरकारों में पाए जाते थे। बाद में, कंप्यूटरों ने ट्रांजिस्टर के साथ-साथ छोटे और सस्ते भागों का उपयोग करना शुरू कर दिया गाय |

Computer का भविष्य

दोस्तों आने वाला टाइम अब कंप्यूटर का ही है दिन ब दिन इसकी मांग बढती जा रही है इसलिए हम कह सकते है की आने वाला भविष्य computer का ही है हर दिन इसकी technology में बदलाव आते रहते है दिन प्रति दिन सस्ता ओर बेहतर Performance ओर जादा Capacity देने वाला कंप्यूटर मार्किट में आ जाता है

Computer के लाभ

दोस्तों ये बात सच है की कंप्यूटर ने हमारे जीवन को बहोत ही सरल बना दिया है speed , Accuracy ओर storage के हमारे जीवन को बदल दिया | कंप्यूटर के बहोत सरे advantages है

  1. Multitasking – एक ही समय में कंप्यूटर के द्वारा Multiple ( एक से अधिक ) कम किया जा सकता है |
  2. Speed – बड़े से बड़ा प्रोब्ल्र्म , बड़े से बड़ा Calculation सेकंडो में हल हो जाता है |
  3. storage – कंप्यूटर में बहोत ही आसानी से हम अपने डाटा को Store कर सकते है |
  4. Accuracy – कंप्यूटर में कैलकुलेशन बहोत हि जादा Accurate होता है इसमें गलत होने के चांस न के बराबर होता है
  5. Data Security – कंप्यूटर में हम जो भी Data , Store करते है वो बहोत ही सिक्योर होता है ओर हम जब तब चाहे अपने डाटा हो कंप्यूट में सुरक्षित रख सकते है

Computer के हानि

जिस तरह कंप्यूटर के बहोत सरे लाभ होते है उसी प्रकार कुछ हानियाँ भी होती है

  1. वायरस (Virus ) – वायरस एक ऐसा प्रोग्राम होता है जो हमारे कंप्यूटर में आ जाने पर कंप्यूटर के डाटा को नस्ट कर देता है ओर हमें पता भी नहीं चलता |
  2. हैकिंग (Hacking ) – हैकिंग उस Unauthorized Access को कहा जाता है जिसमे कंप्यूटर किसी दूसरे द्वारा एक्सेस किया जाता है इसमें हमारा डाटा भी चोरी हो सकता है
  3. ऑनलाइन साइबर क्राइम (Online Cyber Crime ) – ऑनलाइन साइबर क्राइम (Online Cyber Crime ) में कंप्यूटरओर इन्टरनेट (Internet ) का स्तेमाल होता है जिसमे हमारी पर्सनल डाटा (Data ) भी लीक हो सकती है ओर इससे हमें भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है

यह भी पढ़ें –  Computer Network Kya hai | Computer Network किसे कहते हैं

इस पोस्ट को पढ़ने के लिए धन्यवाद। यदि आपको यह पोस्ट अच्छा लगा तो कृपया share करें।

You may also like...

1 Response

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *